तेरे आने की आहट

लहराती है हवा तो सरसराती है कभी तेरे आने की आहट दे जाती है कभी। छुप्ती है चांदनी तो जगमगाती है कभी तेरे चेहरे की रौशनी दे जाती है कभी। खिलती है कलियाँ तो शर्माती हैं कभी तेरे यादों की खुशबू दे जाती हैं कभी। छलकती है शबनम तो बेह जाती है कभी तेरे होंठों… Continue reading तेरे आने की आहट