एक नया मसीहा आया है?

On the “so-called” promise of Modi: शासन नहीं चलायेगा वह सेवक बन के आया है मिट जाएगी सारी समस्या एक नया मसीहा आया है?   हमारी सड़कें साफ़ करेगा झाड़ू वह अपनी लाया है मिट जाएगी सारी समस्या एक नया मसीहा आया है?   रोज़गार मिलेगा सबको “मेक इन इंडिया” का चलन सिखाया है मिट… Continue reading एक नया मसीहा आया है?

ऐसा ना हो कि तू काफ़िर बने…

दुनिया के ग़मों में इतना ना उलझ कि तेरी असली पेहचान खो जाये ऐसा ना हो कि तू काफ़िर बने, और तेरे अंदर का ख़ुदा सो जाये दुनिया में रोशनी की कमी है गर अपने चिराग से और चिराग तू जला तू भी अगर अंधेरें में डूबा तो कैसे हम देख पायेंगे भला मुक़द्दर का… Continue reading ऐसा ना हो कि तू काफ़िर बने…